Site icon Pinkcity – Voice of Jaipur

जल्‍द होंगी और गिराफ्तारियां

प्रदेश के अब तक के सबसे बडे हाई प्रोफाइल मामले दारा सिंह एनकाउंटर प्रकरण में अभी और गिरफतारियां होंगी। पूर्व मंत्री राजेन्‍द्र सिंह राठौड की गिरफ़तारी के बाद कोर्ट और सख्‍त हो गई  है और अब इस मामले में कोताही न बरतने के निर्देश दे दिए गए हैं। दारासिंह एनकाउंटर प्रकरण में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सीबीआई ने फरार पुलिसकर्मियों को पकड़ने के लिए दबाव बढ़ा दिया है। सीबीआई ने नए सिरे से फरार पुलिसकर्मियों के पोस्टर जारी करने के साथ ही परिजनों और बचाव पक्ष के वकीलों से भी संपर्क साधा है।  सीबीआई फरार चल रहे पुलिसकर्मियों पर भी सरेंडर के लिए दबाव बढ़ा रही है। दूसरी ओर, न्यायिक हिरासत में चल रहे विधायक राजेंद्र सिंह राठौड़ को सोमवार को और निलंबित एडीजी एके जैन को मंगलवार को अदालत में पेश किया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक, दारासिंह मामले में आरोपी पुलिसकर्मी राजेश चौधरी, जुल्फिकार अली सहित अन्य दो पुलिस अघिकारियों को पकड़ने के लिए सीबीआई ने परिजनों और वकीलों से संपर्क साधा है। गौरतलब है कि मामले में आरोपी एडीजी एके जैन हों या एएसपी अरशद अली अथवा दूसरे पुलिसकर्मी, सीबीआई किसी को भी खुद से तलाश नहीं कर पाई। पोन्नूचामी को भी पूछताछ के बहाने बुला कर गिरफ्तार किया गया, जबकि विधायक राठौड़ के मामले में भी ऎसा ही हुआ। अब भी चार आरोपी पुलिसकर्मी फरार हैं। सीबीआई ने इन फरार पुलिसकर्मियों के पोस्टर नए सिरे से चस्पा कराने के साथ ही इन पर इनाम और बढ़ाने की कोशिश शुरू कर दी है। सीबीआई ने चारों फरार पुलिसकर्मियों के खिलाफ फिलहाल पांच पांच लाख रूपए का इनाम घोषित किया हुआ है।


Exit mobile version