Site icon

मेजर नेहा भटनागर का हुआ सम्मान

जयपुर की पहली महिला के रूप में एवरेस्ट तक पहुंचने वाली नेहा भटनागर का रविवार को सम्मान हुआ। पत्रकार डॉटकॉम की ओर हुए आयोजन में मेयर ज्योति खंडेलवाल ने मेजर नेहा भटनागर का अभिनन्दन किया। मेजर नेहा हाल ही में आर्मी के विशेष कैम्प में एवरेस्ट की ऊंचाइयां छू कर लौटी हैं। यहां नेहा ने एवरेस्ट के अनुभव सुनाए। नेहा का कहना था कि हम आर्मी वालों के लिए हर चीज मिशन होती है। हम जैसे जैसे आर्मी कैम्प से एवरेस्ट की ओर बढ़ रहे थे डैडबॉडीज नजर आ रही थी, पर बिना घबराए, डैडबॉडीज को सेल्यूट कर हम आगे बढ़ते चले गए। नेहा ने बताया कि यह ट्रिप इतना आसान नहीं था। ऐसे कैम्प में सफलता का प्रतिशत बस 40 फीसदी ही होता है। ये उनके पेरेन्टस की दुआएं और आशीर्वाद ही होगा कि वे सफल हुए। नेहा ने बताया कि दो बार वो मौत से रूबरू हुई। एक बार तो वो रोप पर लटकी रह गईं। किस्तमत अच्छी थी वरना उनके अभिनंदन समारोह की बजाए उनकी श्रद्धांजलि सभा हो रही होती। मेयर ज्योति खंडेलवाल ने इस अवसर पर कहा कि मैं जयपुर की पहली महिला हूं और पूरे जयपुर की ओर से जयपुर की इस बेटी का इस्तेकबाल करती हूं। नेहा की एवरेस्ट ट्रिप की चुनौतियां सुन कर तो मुझे लग रहा है कि नगर निगम में जो चुनौतियां हमारे सामने आती हैं वो तो कुछ भी नहीं हैं। वरिष्ठ पत्रकार डॉ. मनोहर प्रभाकर ने इस अवसर पर केन सिंह की एवरेस्ट फतह का संस्मरण सुनाआ और देवराला सति वाले प्रेदश में नेहा जैसी बेटियों के जरिए प्रेदश की छवि आसामान तक पहुंचने की बात कही। कार्यक्रम का संचालन आईसीजी की पत्रकारिता की विभागाध्यक्ष गरिमा भटनागर ने किया।


Exit mobile version