Site icon

दिनभर परेशान हुए नन्हे खिलाड़ी

खिलाडिय़ों का काम है खेलना। लेकिन जब कुर्सियों पर बैठे लोग खेलने लगते हैं तो खिलाड़ी नहीं खेल पाते। राजनीति के खेल शुरू हो जाते हैं। आरसीए और स्पोट्र्स काउंसिल के बीच चल रही खींचतान खिलाडिय़ों पर भारी पड़ रही है। गुरुवार को काउंसिल ने अंडर सिक्सिटीन क्रिकेट कैंप में दूरदराज से आए प्लेयर्स को एसएमएस ग्राउंड में नहीं घुसने दिया। प्लेयर्स करीब 5 घंटे गेट के बाहर परेशान होते रहे। खिलाडिय़ों के नारेबाजी करने पर आरसीए पदाधिकारी वहां पहुंचे और गेट खुलवाए। खुद ही अंदाजा लगा लें कि सोलह साल से कम उम्र के नन्हे खिलाडिय़ों के मनोबल पर क्या प्रभाव पड़ा होगा, इस कारस्तानी को देख कर।


Exit mobile version