Site icon Pinkcity – Voice of Jaipur

जेएलएफ करेगा बॉलीवुड को सलाम

-24 से 28 जनवरी तक होगा जयपुर लिटरेचर फेस्टीवल
-भारतीय सिनेमा के सौ वर्ष पूरे होने पर फेस्टीवल में होंगे विशेष आयोजन

जयपुर लिटरेचर फेस्टीवल में इस बार हिन्दी सिनेमा को उसकी सेंचुरी कंपलीट होने पर सलाम दिया जाएगा। 24 से 28 जनवरी तक होने वाले इस आयोजन में इस बार हिन्दी सिनेमा पर खास फोकस किया जाएगा। जिसमें कई खास सैशंस में भारतीय सिनेमा के पहलुओं पर साहित्यकारों और अभिनेताओं, निर्देशकों निर्माताओं की आपसी बातचीत और चर्चाओं के दौर रोचक होंगे। यूं भी लिटरेचर फेस्ट में सिनेमा और साहित्य गहरे आपस में जुडे हुए हैं।

बॉलीवुड हस्तियों ने भी अपनी मौजूदगी से लिटरेचर फेस्टीवल को एक अहम समारोह बनाया है। यहां अमिताभ बच्चन, देव आनंद, आमिर खान, गुलजार, जावेद अख्तर, शबाना आजमी, गिरीश कर्नाड सरीखी बॉलीवुड हस्तियों की मौजूदगी ने समारोह में चार चांद लगाए हैं। लेकिन ऐसा नहीं है कि इन हस्तियों के आने से फेस्टीवल की शोभा जमीन से आसमान में पहुंची हो। दरअसल बॉलीवुड कलाकार स्वयं इस समारोह से जुडकर अपने आपको कृत-कृत्य महसूस करते हैं और यहां आकर अपनी वार्ताओं में उन्होंने ऐसा कई बार जाहिर भी किया है।
बॉलीवुड हस्तियों ने फेस्टीवल में आकर स्क्रिप्ट, स्टोरी, स्क्रीन प्ले, संगीत आदि विषयों पर कई रोचक वार्ताओं पर अपने अनुभव साझा किए हैं, नए साल में आने वाले समारोह में भी बॉलीवुड की नई संस्कृति, लोक गीत आदि पर इसी तरह की रोचक चर्चाएं होंगी। जेएलएफ की को-डायरेक्टर नमिता गोखले स्वयं मानती हैं कि फेस्टीवल में सिनेमा की रोचक दखल होती ही है और चूंकि भारतीय सिनेमा अपनी सौवीं वर्षगांठ मनाने के कगार पर है इसलिए इस बार सिनेमा पर विशेष सैशन आयोजित किए जाएंगे। सिनेमा की नामचीन हस्तियों के इन सैशंस में भाग लेने की उम्मीद है।

तो साहित्य और सिनेमा से लगाव रखने वाले लोगों को इस बार जयपुर लिटरेचर फेस्टीवल का बेसब्री से इंतजार रहेगा। और क्यूं ना हो, जयपुर जैसे ऐतिहासिक शहर की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि में अपने चहेते साहित्यकारों और चहेते कलाकारों के साथ बैठकर जनवरी की गुनगुनी धूप में कौन वे बेशकीमती वार्ताएं सुनना पसंद नहीं करेगा।


Exit mobile version