News Ticker

बी एम बिड़ला ऑडिटोरियम (B.M. Birla Auditorium‏)

बी एम बिड़ला ऑडिटोरियम
B.M. Birla Auditorium‏

Birla-Auditoriumजयपुर के सबसे खूबसूरत चौराहे स्टेच्यू सर्किल के पूर्वी-दक्षिणी छोर पर स्थित बी एम बिडला ऑडीटोरियम जयपुर की सबसे खूबसूरत आधुनिक इमारतों में से एक है। इसे जयपुर का ताजमहल भी कहा जाता है। इस खूबसूरत भवन के पूर्व में सेंट्रल पार्क, दक्षिण में नई विधानसभा, उत्तर में एमआई रोड और पश्चिम में बाईस गोदाम है। जयपुर की प्राइम लोकेशन पर स्थित इस भव्य इमारत को देखने समय समय पर देशी विदेशी ट्यूरिस्ट आते रहते हैं और यहां की सुंदर नक्काशियों को अपने कैमरों में कैद करते हैं। खूबसूरती के अलावा भव्य विज्ञान केंद्र के रूप में उपस्थित होने के कारण यहां देशी विदेशी विद्यार्थियों के समूह भी समय समय पर शैक्षणिक भ्रमण पर आते हैं। बिड़ला ऑडीटोरियम में राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।

लाल पत्थर का ताजमहल
बिडला ऑडीटोरियम की भव्य इमारत की तुलना आगरा के ताजमहल से की जाती है। इसके मुख्य सभागार का बाहरी परिसर ताजमहलनुमा है। लोग कहते हैं कि इस इमारत के चारों ओर ऊंची मीनारें होती तो यह लाल पत्थर का ताजमहल नजर आता। लाल पत्थर पर की गई बारीक नक्काशी और जयपुर की पारंपरिक भित्तिचित्र शैली भी अवलोकनीय है। जयपुर की ऐतिहासिक इमारतों से प्रतिस्पर्धा करती यह आधुनिक इमारत नए जयपुर की खास पहचान है।

पता
बी एम बिडला ऑडीटोरियम, स्टेच्यू सर्किल,
जयपुर 302001, राजस्थान।

बड़े आयोजनों का मेजबान
बिडला ऑडीटोरियम जयपुर में सम्पन्न होने वाले राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय आयोजनों की मेजबानी करता है। जयपुर के आयोजक भी यहां कार्यक्रम सम्पन्न कराने में अपनी शान समझते हैं। जयपुर के टॉप क्लास स्कूलों के वार्षिकोत्सव से लेकर बिजनेस, शिक्षा, कला, ट्यूरिज्म और वाणिज्य से संबंधित कार्यक्रमों की मेजबानी करने में यह शानदार भवन पूरी तरह सक्षम है। यहां जयपुर स्टोन मार्ट, अंतर्राष्ट्रीय एनआरआई सम्मेलन, टूर एण्ड ट्रैवल मार्ट, बुक फेयर और विज्ञान प्रदर्शनियों के आयोजनों से इसकी ख्याति पूरे देश में फैली है। इसके अलावा राष्ट्रीय स्तर के नाटकों का मंचन भी इस ऑडीटोरियम के रंगमंच पर किया जा चुका है।

अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस
बिडला ऑडीटोरियम देश के सबसे समृद्ध और अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस सभागारों में से एक है। यहां दो विशाल पार्किंग स्थल, दो गार्डन, एक रेस्टोरेंट, एक मुख्य  विशाल सभागार, एक आर्ट गैलरी, कन्वेंशन सेंटर, एक विज्ञान हॉल, एक प्रदर्शनी भीतरी परिसर, एक प्लेनेटोरियम, पुस्तकालय और मीटिंग हॉल है। जितना खूबसूरत यह भवन बाहर से दिखाई देता है, अंदर से भी उतना ही सुविधापूर्ण और सुखद वातावरणयुक्त है। पूरा सभागार वातानुकूलित है।

भव्यता एवं परिसर विशेषताएं
जयपुर के दिल ’स्टेच्यू सर्किल’ स्थित यह परिसर लगभग 10 एकड़ में बसा हुआ है। इस परिसर में एक इंटरैक्टिव विज्ञान संग्रहालय, पुस्तकालय, कंप्यूटर सेंटर, एक सूचना संसाधन, एक प्रसंस्करण तारामंडल और एक सभागार शामिल है। इसके अलावा 1350 लोगों के बैठने की क्षमता के साथ मुख्य सभागार भारत में सबसे बड़े सभागारों में से एक है, जहां अंतरराष्ट्रीय स्तर के सम्मेलन आदि सम्पन्न किए जा सकते हैं।

स्थापत्य

बी.एम. बिडला सभागार का डिजाइन पारंपरिक राजस्थानी कला पर प्रकाश डालता है। यहां के फ्रेस्को में एक साथ क्लासिक पुरानी और समकालीन भारतीय वास्तुकला का मिश्रण है। यह राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय, वैज्ञानिक, औद्योगिक और सांस्कृतिक सम्मेलनों के आयोजन के लिए एक आदर्श वातावरण प्रदान करता है। मुख्य सभागार के अलावा कई सम्मेलन हॉल और संगोष्ठी कक्ष हैं जहां समानांतर सत्र और समूह चर्चाएं की जा सकती हैं। इसके अलावा छोटी बैठकों के लिए 40 से 400 व्यक्तियों के बैठने की क्षमता वाले कई हॉल हैं।

बिड़ला तारामंडल

एमपी बिड़ला तारामंडल शैक्षिक, वैज्ञानिक और अनुसंधान संस्थान के रूप में 29 सितंबर, 1962 से शुरू किया गया था और औपचारिक रूप से पंडित जवाहरलाल नेहरू द्वारा 2 जुलाई, 1963 को इस भव्य भवन का उद्घाटन किया गया। कहा जाता है कि जयपुर का यह तारामंडल लंदन और कोलकाता के तारामंडल के बाद सबसे भव्य तारामंडल है। यह भारत में अपनी तरह का पहला और एशिया में सबसे बड़ा तारामंडल था। इस परियोजना के पीछे एमपी बिडला की प्रेरणा शक्ति थी। तारामंडल एक एकड़ में फैला हुआ है। अपने सभी परिसंपत्तियों के साथ तारामंडल “बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च सोसायटी’ द्वारा पंजीकृत किया गया है। एक साथ साढे तीन सौ लोगों को यह तारामंडल खगोलीय विज्ञान के कई पहलुओं, खगोल भौतिकी, खगोलीय यांत्रिकी, अंतरिक्ष विज्ञान, खगोल विज्ञान के इतिहास, प्रसिद्ध खगोलविदों के विचारों से अवगत कराने में सक्षम है। खास बात यह है कि छत पर गोलाकार पर्दे पर कथाओं के माध्यम से यहां तारों और ग्रहों के विषय की जानकारी दी जाती है। तारामंडल ST6 सीसीडी कैमरे के के साथ सेलेस्ट्रोन सी 14 टेलीस्कोप के माध्यम से खगोलीय वेधशाला में फिल्म के रूप में खगोलीय घटनाएं दिखाई जाती हैं।

अन्य सुविधाएं

  • वातानुकूलित सभागार, 1300 लोगों के बैठने की व्यवस्था
  • 40 से 400 लोगों के बैठने की व्यवस्था से सुसज्जित संगोष्ठी कक्ष
  • अत्याधुनिक दृश्य-श्रव्य माध्यम
  • इंडोर 3600 वर्ग मीटर, आउटडोर 4200 वर्ग मीटर प्रदर्शनी स्थल
  • रेस्टोरेंट व कैफेटेरिया
  • विशाल पार्किंग क्षेत्र
  • निर्बाध विद्युत आपूर्ति

Best Web Hosting Providers

Liquid Web

Website Hosting, Server Hosting: Cloud, Dedicated Server, HIPAA Server, and Word Press plans, within a fully managed environment

A2Hosting

Website Hosting, Server Hosting: Cloud, Dedicated Server, HIPAA Server, and Word Press plans, within a fully managed environment

Greengeeks

Website Hosting, Server Hosting: Cloud, Dedicated Server, HIPAA Server, and Word Press plans, within a fully managed environment

Namecheap

Website Hosting, CDN Service, Server Hosting Domains, SSL certificates, hosting

InMotion Hosting

Website Hosting

Hostgator

Website Hosting - shared, reseller, VPS, & dedicated hosting solutions

Hostens

Website HostingServer HostingB2B

jetpack

6 Comments on बी एम बिड़ला ऑडिटोरियम (B.M. Birla Auditorium‏)

  1. जयपुर के बिड़ला सभागार में 14 मार्च गुरूवार को बिड़ला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी जयपुर सेंटर का वार्षिकोत्सव आयोजित किया गया। कार्यक्रम की थीम ’टेक्नोक्रेट प्रोजेक्ट द फ्यूचर’ रखी गई थी। कार्यक्रम में बच्चों ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दीं। साथ ही बॉलीवुड फ्यूजन गानों पर भी ग्रुप परफोर्मेंस दी।

  2. विवेकानंद की प्रस्तुति

    बिड़ला सभागार (Birla Auditorium‏) में रविवार 24 मार्च को प्रसिद्ध संगीतकार व एकल प्रस्तुतिकार शेखर सेन ने ’विवेकानंद’ एकांकी प्रस्तुत की। गीत, संगीत, कहानी और संवादों के इस ऊर्जावान कोलाज में शेखर ने स्वामी विवेकानंद की पूरी जीवनी और संदेशों का सार पेश किय। शेखर ने विभिन्न संवादों से सभागार में मौजूद दर्शकों को झकझोर दिया। अपने संदेश में स्वामी विवेकानंद के रूप में उन्होंने कहा कि उठो, जागो और तब तक आगे बढ़ो, जब तक लक्ष्य हासिल न कर लो। गुरू ने ही मुझे आशीर्वाद दिया और मुझमें प्रेरणा शक्ति भर दी वरना मैं कुछ भी नहीं था। मैं कलकत्ता का एक आम नौजवान था जिसमें ज्ञान और तर्क का अहंकार था, मेरे गुरू ने मुझे समझाया कि विज्ञान और तर्क जहां समाप्त हो जाते हैं, आध्यात्म वहीं से आरंभ होता है। अपने पूर अभिनय में शेखर ने बिड़ला ऑडीटोरियम सभागार में दर्शकों को आध्यात्म की दीप्ति से आपूरित कर दिया। शेखर ने इस पूरी संगीतमय एकांकी में विकेकानंद के जन्म से लेकर समाधि तक के जीवन को प्रस्तुत कर नौजवानों को कर्तव्य पथ पर आगे बढ़ने का संदेश दिया।

  3. धरोहर अवार्ड-2013

    जयपुर के बिडला सभागार में 29 मार्च की शाम ’धरोहर-अवार्ड्-2013’ का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में प्रदेश की प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की शुरूआत में विद्यार्थियों ने राजस्थानी नृत्य पेश किया। सम्मानित प्रतिभाओं में कला, समाज सेवा, चिकित्सा आदि क्षेत्रों से जुड़ी हस्तियां शामिल थीं। विरासत होटल की ओर से कराए गए इस कार्यक्रम में प्रदेश की जानी मानी हस्तियों ने भाग लिया। धरोहर अवार्ड कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रिटायर्ड आर्मी चीफ जनरल वी के सिंह थे। इस मौके पर टीवी स्टार नीलू, अरविंद, गायिका इला अरूण, उद्यमी अनूप बरतिया, कुशल चंद, शशि मित्तल, डॉ समित शर्मा, जुबेर हुसैन, रामसिंह, आनंदीलाल व स्वरूप खान के साथ अन्य लोग भी उपस्थित थे। कार्यक्रम में रामसिंह की 18 फीट लंबी मूछों ने सभी को रोमांचित किया। नीलू व अरविंद ने ’रंगीलो म्हारो ढोलना’ गीत पर डांस कर सभागार में तालियां गुंजा दी।

  4. ग्रेट इंडियन ट्रैवल बाजार 14 अप्रैल से

    जयपुर के बिड़ला ऑडिटोरियम में छठा ग्रेट इंडियन ट्रैवल बाजार 14 अप्रैल से शुरू हो जाएगा। बिडला ऑडीटोरियम में आयोजित होने वाले इस बाजार में 57 देशों के 278 बायर्स हिस्सा लेंगे। भारत सरकार और राजस्थान के पर्यटन विभाग व फिक्की के संयुक्त तत्वावधान में होने वाला यह बाजार यहां 16 अप्रैल तक चलेगा। इस बाजार में बी2बी के लिए 278 बायर्स भाग लेने के लिए आ रहे हैं। कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पर्यटन मंत्री बीना काक द्वारा किया जाएगा। बाजार में 270 एग्जीबटर्स उनके उत्पादों और सेवाओं को डिस्प्ले करेंगी। यहां गुजरात, मध्यप्रदेश,कर्नाटक, महाराष्ट्र, उड़ीसा, उत्तराखंड, वेस्ट बंगाल और छत्तीसगढ़ पार्टनर स्टेट होंगे। हिमाचल प्रदेश, पंजाब व तमिलनाडु भी इसमें शामिल होंगे। हर साल जीआईटीबी को लेकर लोगों में उत्साह होता है। इसके जरिए ट्यूरिज्म में स्मॉल, मीडियम बिजनेसमैन को प्लेटफार्म मिल रहा है। बाजार के लिए सिस्टमैटिक स्क्रूटनी के बाद ही इंटरनेशनल बायर्स चयनित हो रहे हैं। इन बायर्स में लेटिन अमेरिका व चीन भी शामिल हैं।

  5. गुलजार आज जयपुर में

    गीतकार गुलजार शुक्रवार को एक बार फिर अपने शब्दों की जादूगरी से जयपुर को मोहित करेंगे। वे जयपुर सिटीजन फोरम की ओर से ’गुलजार के साथ एक शाम’ कार्यक्रम में शिरकत करने जयपुर आएंगे। कार्यक्रम शाम साढे 6 बजे से बिडला ऑडीटोरियम में आयोजित होगा। इस मौके वे अपनी कविताएं और नज्में पेश करने के साथ साथ अपने प्रशंसकों से रूबरू भी होंगे।

  6. बच्चों ने किया रैंप वॉक

    बिरला ऑडीटोरियम में रविवार शाम स्टूडियो बिग बॉस की ओर से आयोजित मॉडल हंट 2013 का आयोजन किया गया। इसमें बेबी कांटेस्ट के साथ किड्स फैशन शो, मिस व मिस्टर डेजर्ट राजस्थान टाइटल के लिए भी प्रतिभागियों ने रैंप वॉक की। इसके साथ मम्मी व पापा को भी बेस्ट कपल, बेस्ट फादर मदर, टाइटल प्रदान किए गए।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: