News Ticker

‘ईज ऑफ डूइंग फार्मिंग’ के क्रियान्वयन के लिए समितियों का गठन

जयपुर, 11 नवम्बर। मुख्यमंत्री की बजट घोषणा के तहत ‘ईज ऑफ डूइंग फार्मिंग’ के क्रियान्वयन के लिए किसानों के लिए ऑन-लाइन समन्वित प्लेटफार्म विकसित किया जाएगा। इसके लिए कार्यक्रम संचालन एवं प्रबोधन समिति तथा प्रोग्राम अप्रेजल एवं कोर्डिनेशन टीम का गठन किया गया है।

कृषि एवं उद्यानिकी विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री नरेशपाल गंगवार की अध्यक्षता में सोमवार को यहां पंत कृषि भवन में आयोजित बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक में कृषि एवं उद्यानिकी विभाग के प्रमुख शासन सचिव की अध्यक्षता में कार्यक्रम संचालन एवं प्रबोधन समिति तथा आयुक्त कृषि की अध्यक्षता में प्रोग्राम अप्रेजल एवं कोर्डिनेशन टीम के गठन का निर्णय लिया गया। कार्यक्रम के समयबद्ध एवं प्रभावी क्रियान्वयन के लिए एक परियोजना प्रबन्धन ईकाई बनाने का भी निर्णय लिया गया, जिसमें सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के तकनीकी अधिकारी, कृषि एवं सम्बद्ध विभागों के विषय-विशेषज्ञ तथा डवलपमेन्ट टीम के सदस्यों को मनोनित किया जाएगा।

प्रमुख शासन सचिव श्री नरेशपाल गंगवार ने बताया कि विकसित पोर्टल का प्रमुख उद्देश्य काश्तकारों को एकीकृत पोर्टल के माध्यम से कृषि, उद्यानिकी एवं कृषि विपणन विभाग की समस्त देय सुविधाओं जैसे बीज वितरण, कृषि यंत्र वितरण, उर्वरक जिप्सम, प्रदर्शन, सूक्ष्म तत्व, पौध संरक्षण यंत्र, जल संरक्षण योजनाओं का निर्माण, उच्च तकनीकी की उद्यानिकी योजनाओं एवं अन्य गतिविधियों का लाभ प्रदान करना है। किसानों की सुविधा के लिए पोर्टल पर फार्मर डेटा बैंक विकसित किया जाएगा। किसानों को देय अनुदान ऑन-लाइन पद्धति से सीधे कृषकों के खाते में डाला जाएगा, जिससे उन्हें पारदर्शी एवं त्वरित गति से योजनाओं का लाभ मिल सकेगा।

बैठक में आयुक्त कृषि डॉ. ओमप्रकाश, आयुक्त उद्यानिकी वी. सरवन कुमार, प्रशासक कृषि विपणन बोर्ड श्री ताराचंद सहित कृषि, उद्यानिकी, सहकारिता, कृषि विपणन तथा सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: