News Ticker

संविधान दिवस, 26 नवम्बर राज्य में व्यापक स्तर पर मनाया जाएगा

जयपुर, 7 नवम्बर। मुख्य सचिव श्री डी.बी. गुप्ता की अध्यक्षता में गुरूवार को शासन सचिवालय में 26 नवम्बर को संविधान दिवस की तैयारियों को लेकर बैठक का आयोजन किया गया।

बैठक में मुख्य सचिव ने बताया कि 26 नवम्बर को संविधान दिवस समरसता दिवस के रूप में व्यापक स्तर पर मनाया जाएगा, इसके लिए 26 नवम्बर से 14 अप्रेल 2020 (बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर जयन्ती) तक राज्य भर में मौलिक अधिकाराें एवं मौलिक कर्तव्यों की जानकारी देने के उद्देश्य से समारोह पूर्वक गतिविधियों का आयोजन होगा। राज्य स्तरीय समारोह जयपुर में आयोजित होगा। इस अवसर पर सभी विभागों, विद्यालयों-महाविद्यालयों में संविधान संबंधी शपथ भी ली जाएगी।

उन्होंने बताया कि इस वर्ष भारतीय संविधान की 70 वीं वर्षगांठ के अवसर पर आगामी 14 अप्रेल तक चलने वाले कार्यक्रम मौलिक कर्तव्यों पर केन्दि्रत रहेंगे, जिसके अन्तर्गत राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, बार कॉन्सिल ऑफ राजस्थान, विधानसभा, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता, पंचायती राज, विधि एवं संसदीय कार्य विभाग, नगरीय विकास एवं आवासन विभाग, स्कूल शिक्षा, सूचना एवं जनसम्पर्क, पर्यटन, महिला एवं बाल विकास ,उच्च शिक्षा, युवा मामले एवं खेल विभाग द्वारा संगोष्ठियां, सेमिनार आदि का आयोजन किया जाएगा जिसमें आमजन की सहभागिता भी होगी। मुख्य सचिव ने इस संबंध में पंचायती राज विभाग को राज्य विधिक सेवा प्रधिकरण से समन्वय स्थापित करने के निर्देश भी दिये हैं।

बैठक में राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के सदस्य सचिव श्री अशोक कुमार जैन ने बताया कि रालसा द्वारा इस दौरान 14 अप्रेल 2020 तक नागरिक जागरूकता कार्यक्रम होंगे तथा विधिक सप्ताह मेंं भी आम नागरिकों को मौलिक कर्तव्योें के संबंध में विस्तार से जानकारी दी जाएगी।

विधि विभाग के प्रमुख सचिव श्री विनोद कुमार भारवानी ने बताया कि संविधान और मौलिक कर्तव्यों से संबंधित कार्यक्रमों एवं अन्य नागरिक जागरूकता कार्यक्रम पंचायत स्तर तक आयोजित होेंगे जिससे ग्रामीण नागारिकों को भी मौलिक कर्तव्यों की जानकारी हासिल हो सके। इसके लिए ग्राम स्तर पर विशेष ग्राम सभाओं का आयोजन होगा।

बैठक में सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के आयुक्त डॉ. नीरज कुमार पवन ने जानकारी दी कि संविधांन दिवस से बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर जयन्ती तक संविधान एवं मौलिक कर्तव्यों के संबंध में आम-जन को जोड़ने के उद्ेदश्य से सभी कार्यक्रमों का विभिन्न विधाओं में विस्तार से प्रचार प्रसार किया जायेगा।

बैठक में जानकारी दी गई कि राज्य के सभी आंगनबाड़ी केन्द्राें में संविधान से संबंधित विभिन्न कार्यक्रम आयोजित होंगे। इस दौरान विद्यालयों एवं महाविद्यालयों में चित्रकला, वाद-विवाद, सेमिनार एवं छात्र संसद आयोजित होेंगी। युवा वर्ग को मौलिक कर्तव्यों एवं भारतीय संविधान से संबंधित जानकारी देने के लिए नेहरू युवा केेन्द्रों में भी कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे। बैठक में विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: