News Ticker

जयपुर में पहली बार आयोजित होगी ‘साइकिल पोलो लीग’

साइकिल पोलो फैडरेशन ऑफ इंडिया द्वारा 25 से 29 नवम्बर तक होगी आयोजित, पांच टीमों में शामिल होंगे 40 भारतीय एवं 10 विदेशी खिलाड़ी

जयपुर। साइकिल पोलो फैडरेशन ऑफ इंडिया (सीपीएफआई) की ओर से राजस्थान पोलो क्लब जयपुर में 25 से 29 नवम्बर तक पहली बार साइकिल पोलो लीग की मेजबानी की जाएगी। इस सम्पूर्ण लीग में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को नकद इनाम दिये जाएंगे, जिससे अन्य खिलाड़ियों को भी अपना प्रदर्शन सुधारने के लिए प्रोत्साहन मिलेगा। इस लीग में कुल 40 भारतीय एवं 10 विदेशी खिलाड़ियों की पांच टीमें शामिल होंगी। प्रत्येक टीम में 6 भारतीय, 2 विदेशी और 2 रिजर्व प्लेयर होंगे। प्रत्येक मैच में विजेता टीम, टॉप स्कोरर, मैन ऑफ द मैच और आउटस्टेंडिंग गोल स्कोरर को नकद पुरस्कार दिए जाएंगे। सीपीएफआई के प्रेसीडेंट रघुवेंद्र सिंह डूंडलोद ने राजस्थान पोलो क्लब में आयोजित प्रेस वार्ता में यह जानकारी दी।

इस अवसर पर सीपीएफआई के वाईस प्रेसीडेंट ग्रुप कैप्टन दीपक अहलूवालिया, साइकिल पोलो फेडरेशन ऑफ इंडिया के सेक्रेटरी जनरल गजानंद बर्डे और साइकिल पोलो लीग के एडीशनल डायरेक्टर मनोज भारद्वाज भी उपस्थित थे। ग्रुप कैप्टन अहलूवालिया ने बताया कि साइकिल पोलो टीम का चयन लॉटरी सिस्टम के आधार पर किया जाएगा। साइकिल पोलो लीग की विजेता टीम को दो लाख रूपए और रनर-अप टीम को एक लाख रूपए का पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। इसी प्रकार प्लेयर ऑफ द लीग, गोल्डन मैलेट व गोल्डन साइकिल ऑफ द लीग को 25-25 हजार रूपए के पुरस्कार दिए जाएंगे। इस लीग के दौरान सीपीएफआई की ओर से वरिष्ठ अधिकारियों व उत्कृष्ट खिलाड़ियों का सम्मान भी किया जाएगा। भारतीय वायु सेना, सेना और इसके सदस्य राज्य संघों के साथ मिलकर इस लीग की रूपरेखा तैयार की जा रही है।

भारत में होर्स पोलो के एक ऑफशूट के रूप में भारत में साइकिल पोलो की शुरूआत हुई थी। गर्मी के महीनों में जयपुर, जोधपुर, बारिया, कपूरथला, कूच बिहार व पटियाला के शाही परिवारों के साथ-साथ डिफेंस पोलो प्लेयर्स द्वारा स्वयं को फिट और चुस्त-दुरूस्त रखने के लिए इस खेल का अभ्यास किया जाता था। 1966 में तत्कालीन उप रक्षा मंत्री एम.आर. कृष्णा द्वारा सीपीएफआई की स्थापना और पंजीकरण किया गया। गत कुछ वर्षों में इस खेल को देशभर में विशेष रूप से भारतीय वायु सेना, सेना और टेरिटोरीअल आर्मी में लोकप्रियता हासिल हुई।

उल्लेखनीय है कि सीपीएफआई की ओर से वर्ष भर में पुरूष एवं महिला श्रेणियों में तीन वर्गों – (सब जूनियर, जूनियर और सीनियर) में 6 नेशनल साइकिल पोलो चैम्पियनशिप का आयोजन किया जाता है। इसके द्वारा दो फैडरेशन कप भी आयोजित किए जाते हैं, जिनमें देश की सर्वश्रेष्ठ 8 टीमें हिस्सा लेती हैं। भारत आगामी 10 से 14 दिसम्बर, 2019 तक अर्जेंटीना में होने वाली वर्ल्ड साइकिल पोलो चैम्पियनशिप में भाग लेने के लिए भी तैयार है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: