News Ticker

निर्धारित समय में पूरा होगा रिफाइनरी का कार्य : मुख्यमंत्री

जयपुर, 04 नवम्बर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि राजस्थान में रिफाइनरी का निर्माण कार्य शीघ्र पूरा करना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसमें किसी तरह की कमी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि रिफाइनरी का कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है और इसे निर्धारित समय में पूरा कर लिया जाएगा। श्री गहलोत ने सोमवार को बाड़मेर जिले के पचपदरा में एचपीसीएल एवं राजस्थान सरकार के संयुक्त उपक्रम एचपीसीएल राजस्थान रिफाइनरी के निर्माणाधीन कार्यों का जायजा लेने के बाद यह बात कही।

तकनीकी गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखें

मुख्यमंत्री ने रिफाइनरी के निर्माणाधीन कार्यों का मौके पर जाकर अवलोकन किया। उन्होंने कार्य निर्माण में तकनीकी गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि करीब एक चौथा कार्य प्रगति पर है और करीब 10 हजार करोड़ के कार्यों की निविदा जारी की जा चुकी है। राजस्थान की यह रिफाइनरी देश में बनने वाली रिफाइनरियों में से सबसे बड़ा प्रोजेक्ट है। नौ मिलियन टन क्षमता की यह रिफाइनरी बनने के बाद राज्य का चहुंमुखी विकास होगा।
हजारों लोगाेंं को मिलेगा रोजगार
मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्थान सरकार यहां पेट्रो केमिकल हब की भी स्थापना करने जा रही है। इसके तहत बड़े क्षेत्र में औद्योगिक विकास के साथ सैकड़ों की संख्या में औद्योगिक इकाइयों की स्थापना होगी। इससे हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा। उन्होंने कहा कि रिफाइनरी के निर्माण में स्थानीय लोगों को रोजगार में प्राथमिकता दी जाएगी। यहां कौशल विकास के जरिए युवाओं को तकनीकी क्षेत्र में प्रक्षिशित किया जाएगा। इससे वे पेट्रो केमिकल क्षेत्र में अपना भविष्य संवार सकेंगे।
तेल अन्वेषण के कार्य को प्राथमिकता
श्री गहलोत ने कहा कि रिफाइनरी का कार्य पूर्ण होने से राज्य की आय में बढ़ोतरी होने के साथ-साथ यहां रोजगार के अवसर बढं़ेगे। उन्होंने कहा कि राजस्थान सरकार रिफाइनरी की स्थापना के साथ-साथ नए तेल अन्वेषण के कार्यों को भी प्राथमिकता दे रही है ताकि रिफाइनरी बनने के बाद स्थानीय स्तर पर मांग के अनुरूप क्रूड ऑयल की आपूर्ति की जा सके एवं बाहर से तेल का आयात नहीं करना पड़े।
इससे पहले अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को रिफाइनरी के मॉडल के जरिए निर्माणाधीन प्रोजेक्ट की विस्तृत जानकारी दी। मुख्य सचिव डी बी गुप्ता ने रिफाइनरी के प्रोजेक्ट में सौर उर्जा के प्रावधान एवं ग्रीन बेल्ट के बारे में जानकारी दी। एचपीसीएल के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक एम के सुराना ने मॉडल के जरिए क्रूड ऑयल के रिफाइनरी में आने तथा तेल के रिफाइन होने की पूरी प्रक्रिया से अवगत कराया। उन्होंने रिफाइनरी से निकलने वाले पेट्रो उत्पादों की विस्तार से जानकारी दी। एचपीसीएल राजस्थान रिफाइनरी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एस पी गायकवाड़ ने देश की अन्य रिफाइनरियों तथा राजस्थान रिफाइनरी के बीच बुनियादी अंतर से अवगत कराया।
इससे पहले मुख्यमंत्री के पचपदरा पहुंचने पर राजस्व मंत्री हरीश चौधरी, खान एवं पेट्रोलियम मंत्री प्रमोद जैन भाया, पूर्व मंत्री अमीन खान, विधायक मेवाराम जैन, मदन प्रजापत, पदमाराम मेघवाल, जिला प्रमुख श्रीमती प्रियंका मेघवाल, मुख्य सचिव डी.बी. गुप्ता, जिला कलक्टर अंशदीप, पुलिस अधीक्षक शरद चौधरी, जिला परिषद सदस्य फतेह मोहम्मद, गफूर अहमद, गोपाराम मेघवाल, प्रधान लक्ष्मणराम, रशीदा बानो, दरिया देवी समेत विभिन्न जन प्रतिनिधि, एचपीसीएल के अधिकारियों ने स्वागत किया। मुख्यमंत्री ने आमजन की परिवेदनाएं भी सुनी और अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: