News Ticker

गरीबों का हक मारने वालों पर हो कड़ी कार्रवाई

Naresh Pal Gangwar

जयपुर, 01 नवम्बर। नागौर जिले के प्रभारी सचिव एवं कृषि व सहकारिता विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री नरेशपाल गंगवार ने कहा है कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना (एनएफएसए) का अधिक से अधिक लाभ गरीबों तक पहुंचना चाहिए, इसके लिए एनएफएसए लाभान्वितों की सूची की जांच कर अपा़़त्र व्यक्तियों को हटाने की कार्यवाही शीघ्र पूरी की जाए। उन्होने निर्देश दिए कि यदि कोई सरकारी कर्मचारी एनएफएसए सूची में गलत फायदा लेते हुए पाया जाए तो उस पर कड़ीं कार्रवाई की जाए।

प्रभारी सचिव श्री गंगवार शुक्रवार को नागौर जिले के कलेक्टे्रट सभागार में जिला कलक्टर दिनेश कुमार यादव की उपस्थिति में जिला स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि नागौर जिले में विभिन्न विभागों में जो रिक्त पद हैं, उन्हें शीघ्र भरने के लिए वे संबंधित विभागों के शासन सचिवों को अवगत करवाएंगे। उन्होंने आश्वासन दिलाया कि इसके बाद भी जो पद रिक्त रहेंगे, उन्हें प्रक्रियाधीन भर्तियों के पूरा होने पर भरवाने का प्रयास किया जाएगा।

समीक्षा बैठक में जानकारी दी गई कि मनरेगा श्रमिकों के नियोजन में अभी नागौर जिला प्रदेश में पांचवे स्थान पर है और आगामी नवम्बर माह में और अधिक श्रमिकों को जोड़ने का प्रयास किया जाएगा। इस पर प्रभारी सचिव ने निर्देश दिए कि मनरेगा श्रमिकों को समय पर भुगतान भी सुनिश्चित किया जाना चाहिए।

प्रभारी सचिव ने फसल बुवाई के लिए खाद, बीज की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने कहा कि फसल खराबे का बकाया मुआवजा भी जल्द से जल्द किसानों को दिया जाए।

बैठक के दौरान जानकारी दी गई कि जल्द ही शुरू होने जा रही मुख्यमंत्री युवा कौशल योजना के अंतर्गत राजकीय बी आर मिर्धा महाविद्यालय, राजकीय विधि महाविद्यालय एवं डीडवाना, डेगाना और मेड़ता के राजकीय महाविद्यालयों में एडऑन कोर्सेज शुरू किये जाएंगे। इन कोर्सेज में छात्र-छात्राएं स्पोकन इंग्लिश, डेटा एन्ट्री, योगा, वेब डिजाइनिंग आदि का प्रशिक्षण ले सकेंगे।

बैठक में यह भी जानकारी दी गई कि बजट घोषणा की अनुपालना में गोगेलाव इंडस्टि्रयल एरिया के लिए पर्यावरणीय स्वीकृति का प्रस्ताव भिजवा दिया गया है। राजीव गांधी जल संचय योजना के पहले चरण के लिए करीब 41 करोड़ रूपए के काम चिन्हित कर लिए गए है, जो विभागीय स्वीकृति मिलते ही शुरू कर दिए जाएंगे।

समीक्षा बैठक में नागौर पुलिस अधीक्षक डॉ. विकास पाठक, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री जवाहर चौधरी सहित विभिन्न जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Source Press Release : DIPR

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: