News Ticker

द मैजिकल बर्मन्स में महान संगीतकार एसडी बर्मन और आरडी बर्मन को संकल्प की गीतों भरी श्रद्धाजंलि

वॉयलिन के जादूगर और म्यूजिक डायरेक्टर अमर हल्दीपुर को भक्त शिरोमणी मीराबाई सम्मान

बॉलीवुड के नामचीन संगीतकारों के साथ सुर मिलाएंगे मुंबई और जयपुर के गायक

Press Conference Sankalpजयपुर, 14 सितंबर।
सामाजिक सरोकारों और संगीत को समर्पित प्रदेश की अग्रणी संस्था संकल्प कल्चरल सोसायटी की ओर से सुगम संगीत की सुहानी संध्या का आयोजन रविवार, 18 सितंबर को बिड़ला सभागार में किया जाएगा। संस्था के इस पांचवे सीजन की थीम रखी गई है द मैजिकल बर्मन्स। थीम के मुताबिक हिन्दी मिनेमा के महान संगीतकार एसडी बर्मन और आरडी बर्मन को
उनके कंपोज किए गए गीतों की प्रस्तुति के माध्यम से श्रद्धाजंलि दी जाएगी। संकल्प के फाउंडर और चेयरमैन राजेश शर्मा ने ये जानकारी आज प्रेस कांफ्रेंस के माध्यम से दी।

उन्होंने बताया कि कार्यक्रम में एसडी बर्मन और आरडी बर्मन के अमर संगीत को याद किया जाएगा और उनके 25 गीतों की प्रस्तुति मुम्बई और जयपुर के गायक कलाकारों द्वारा दी जाएगी, इनमें 3 इंस्टू्रमेंटल परफॉर्मेंस शामिल हैं। स्थानीय कलाकारों के लिए द मैजिकल बर्मन्स लांचिंग पैड साबित होगा, क्योंकि बॉलीवुड sankalp-01में कई दशकों से स्थापित संगीतकारों की संगत कर रहे कलाकारों के साथ अपनी प्रस्तुति देना उनके लिए एक यादगार मौका होगा। लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल, राजेश रोशन, सचिन दा, राहुल देव बर्मन और बप्पी लाहिड़ी के संगीत को अमर बनाने में अपना योगदान करने वाले निर्मल कुमार मुखर्जी, अरविंद हल्दीपुर, समीर दा और युसूफ मोहम्मद सहित 21 संगीतकारों का ग्रुप इस कार्यक्रम में शिरकत करेगा। मोहब्बते फेम जितेंद्र एस ठाकुर और प्रसिद्ध परकशन वादक प्रताप राथ इस कार्यक्रम का संयोजन करेंगे।

2016 का भक्त शिरोमणी मीराबाई सम्मान– संकल्प कल्चरल सोसायटी के फाउंडर और चेयरमैन राजेश शर्मा ने बताया कि आयोजन का उद्देश्य संगीत और कला-संस्कृति के क्षेत्र में उभरती प्रतिभाओं को मंच प्रदान करना और संगीत को समृद्ध बनाने में महत्वपूर्ण योगदान करने वाले कलाकारों को सम्मानित करना भी है। 2016 का प्रतिष्ठित भक्त शिरोमणी मीराबाई सम्मान जाने-माने संगीतकार, वॉयलिन के जादूगर और म्यूजिक अरेंजर अमर हल्दीपुर को प्रदान किया जाएगा। सम्मान में 51 हजार रुपए की धनराशि, प्रशस्ति-पत्र और श्रीफल प्रदान दिया जाता है।

श्री अमर हल्दीपुर के बारे में– शहंशाह और मैं आजाद हूं जैसी फिल्मों के संगीतकार अमर हल्दीपुर ने लता मंगेशकर, आशा भोंसले, पंकज उदास, लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल के साथ कई नामचीन संगीतकारों के लिए संगीत रचना, वादन और संयोजन किया। करीब 350 फिल्मों में पाश्र्व संगीत देने वाले हल्दीपुर ने मराठी, बंगाली सहित राजस्थानी फिल्मों में भी अपना मधुर संगीत दिया। मोहम्मद रफी की आवाज में गाया हुआ कर्ज फिल्म का गीत दर्दे दिल, दर्दे जिगर में सोलो वॉयलिन हल्दीपुर ने ही बजाया था।

संकल्प के बारे में- वर्ष 2011 में संकल्प कल्चरल सोसायटी की स्थापना की गई। संस्था का मानना है कि तकनीक से बदलते इस दौर में हमारी विरासत धीरे-धीरे लुप्त हो रही है। इस बदलाव का ही ये असर है कि नई पीढ़ी से संगीत के पारम्परिक वाद्य यंत्र दूर हो रहे हैं। संस्थान का प्रयास रहा है कि नई पीढ़ी को प्रत्यक्ष संगीत के वाद्य यंत्रों से रू-ब-रू कराया जाए। इसी को ध्यान में रखकर संस्था की ओर से अब तक संगीत के 4 बड़े सफल आयोजन किए गए हैं। इसके साथ ही संगीत के क्षेत्र में नवोदित प्रतिभाओं को उचित मंच प्रदान करना रहा है। इसके साथ ही सोसायटी सामाजिक सरोकारों के लिए भी निरंतर प्रयास कर रही है। अध्यक्ष श्याम बजाज ने बताया कि गौ सेवा के साथ आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों को स्कॉलरशिप देने का काम भी संस्था ने शुरू किया है। संगीत के प्रति बच्चों में रुझान पैदा करने कच्ची बस्तियों में रहने वाले वंचित बच्चों और जयपुर स्थित सुरमन संस्थान के विशिष्ट बच्चों को भी संकल्प की ओर से वाद्य यंत्र वितरित किए गए।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: