News Ticker

‌‌राजस्थान : बाइक ट्यूरिज्म

राजस्थान देश के सबसे ज्यादा विजिट किए जाने वाले राज्यों में से एक है। राजस्थान की कुछ खूबियां हैं जो इसे अन्य राज्यों से अलग खड़ा करती हैं। राजस्थान में सिर्फ भौतिक पर्यटन ही नहीं बल्कि सांस्कृतिक पर्यटन भी महत्व रखता है। एक ओर राजस्थान के दुर्ग, महल, हवेलियां पर्यटकों को आकर्षित करते हैं दूसरी ओर राजस्थान के मेले, तीज-त्योंहार, खानपान और लोकगीत-संगीत पर्यटकों के जेहन में पर्यटन का आनंद घोल देता है।

राजस्थान में यूं तो बहुत समय से पर्यटन में काफी सुधार हुआ है और भविष्य में अच्छे पर्यटन के संकेत मिले हैं। राजस्थान का थार मरूस्थल, यहां के आलीशान पहाड़ी दुर्ग, उदयपुर की झीलों का आकर्षण, माउंट आबू की ठंडक, सरिस्का और रणथैंभोर अभ्यारण्यों का सफारी शौक और जयपुर व बीकानेर जैसे शहरों की कलात्मकता देशी विदेशी पर्यटकों को अपनी ओर खींचती है। इसके अलावा राजस्थान की अद्भुत हस्तकला भी पर्यटकों को बहुत पसंद आती है। यही कारण है कि साल-दर-साल राजस्थान आने वाले पर्यटकों की संख्या में इजाफा होता है।

राजस्थान में हाल के वर्षों में ट्यूरिज्म का दायरा बढा है और पर्यटन कई रूपाकार ले रहा है। इनमें एक नया प्रकार और शामिल हो गया है, वह है-बाईक से लग्जरी ट्यूरिज्म। वास्तव में राजस्थान को देखने के लिए बाइक पर सफर करना अपने आप में एक नायाम एहसास की तरह है। आइये जानते हैं राजस्थान में बाइक ट्यूरिज्म के बारे में-

एलीफेंट सफारी भी, हार्ले सफारी भी

बदलते दौर के साथ राजस्थान का पर्यटन भी बदला है। अब किले, हवेलियों और ऐतिहासिक धरोहरों के साथ राज्य के पर्यटन को अन्य तरीकों से भी प्रमोट किया जा रहा है। पिछले कुछ सालों में जंगल सफारी और रूरल ट्यूरिज्म के जरिए विदेशी सैलानियों को भारत के ग्रामीण कल्चर से रूबरू कराया गया। वहीं हॉस्पिटलिटी सेगमेंट में पुरानी हवेलियों को होटलों में तब्दील कर ट्यूरिस्ट को राज्य के पुराने आर्किटेक्चर डिजाइन का अनुभव दिया गया। इसी कडी में लग्जरी ट्यूरिज्म को बढावा देने के लिए जल्दी ही राज्य में हार्ले सफारी की शुरूआत हो सकेगी। यदि सब कुछ ठीक रहा तो भविष्य में राज्य के चयनित ट्यूरिस्ट प्लेसेज पर रोड टूर के दौरान सैलानी विश्वस्तरीय क्रूजर बाइक्स पर सैर कर यहां के कल्चर और हेरिटेज का आनंद ले सकेंगे।

द ग्रेट इंडियन ट्रैवल बाजार में बनी बात

हाल ही जयपुर के बिडला ऑडीटोरियम में हुए द ग्रेट इंडियन ट्रैवल बाजार में शिरकत करने आए ब्रिटेन के रिची फिनी ने इस सिलसिले में राज्य के हेरिटेज होटल ऑनर्स से बात की। हैरिटेज होटल ऑनर्स ने इस सुझाव को सिर आंखों पर लिया। अब आने वाले समय में इस दिशा में और कदम उठाए जाएंगे।

रेगिस्तान में बाइक का रोमांच

राजस्थान का हेरिटेज कल्चर और राजसी रजवाडा दुनिया के सैलानियों के लिए आकर्षण का केंद्र बन चुका है। यहां की डेजर्ट सफारी भी सैलानियों में खूब प्रसिद्ध हो चुकी है। यही कारण है कि आने वाले समय में राजस्थान में मोटरसाइकिल टूर के लिए बेहतर संभावनाएं हैं। जहां ट्यूरिस्ट क्रूजर बाइक्स पर सफर करते हुए राजस्थान की विरासतों और शाही अंदाज को जान सकेंगे। अब दुनियाभर में मोटरसाइकिल टूर आर्गनाइजेशन कर चुके रिची फिनी इससे पहले भारत में हिमाचल प्रदेश और दक्षिण भारत में बुलेट टूर आयोजित कर चुके हैं। इसी कडी में अब वे राजस्थान में हार्ले डेविडसन पर इस तरह के टूर की प्लानिंग कर रहे हैं। उनके अनुसार  यहां के हेरिटेज होटल विदेशियों को काफी प्रभावित करते हैं। जिससे लग्जरी टूर को भी बढावा मिल रहा है। रेगिस्तान में बाइकिंग सैलानियों के लिए बहुत बड़ा फन साबित होगा।

बाइट टूर में ये स्थल होंगे शामिल

बाइक टूर योजना अगर सफल रही तो जयपुर के आसपास कानोता, मंडावा, जैसलमेर, बीकानेर, जोधपुर, उदयपुर, माउंट आबू, अजमेर, पुष्कर सहित सभी पर्यटन स्थलों को रूट में शामिल किया जा सकता है।

परंपरागत संस्कृति काबिले तारीफ

राजस्थान की परंपराएं और संस्कृति दूसरे राज्यों की बजाय तारीफ के काबिल हैं। सैलानी राजस्थान की परंपराओं और संस्कृति से प्यार करते हैं। हार्ले डेविडसन और ट्रायम्फ जैसी बाइकों पर आर्ट वर्क और मोडिफिकेशन कर चुके विश्वस्तरीय बाइक मेकर विजय सिंह के अनुसार राज्य में इस तरह का कांसेप्ट पहला होगा, जो लग्जरी टूरिज्म को बढावा देगा। अभी तक हम लग्जरी ट्रेनों और बसों के द्वारा ही इस तरह के टूर आयोजित करते हैं। यह खास होगा कि कोई सैलानी क्रूजर बाइक पर सफर के दौरान लंगा मांगणियार, कालबेलिया और डेजर्ट राइडिंग का आनंद ले रहा हो।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: